skip to content
'कांग्रेस को हिंदुओं पर भरोसा नहीं', प्रियंका गांधी के वायनाड से चुनाव लड़ने पर बोले आचार्य प्रमोद कृष्णम

‘कांग्रेस को हिंदुओं पर भरोसा नहीं’, प्रियंका गांधी के वायनाड से चुनाव लड़ने पर बोले आचार्य प्रमोद कृष्णम

कांग्रेस नेता राहुल गांधी रायबरेली लोकसभा सीट अपने पास रखेंगे। उन्होंने वायनाड सीट छोड़ने का फैसला किया है। वायनाड से राहुल गांधी की बहन प्रियंका गांधी वाड्रा कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ने जा रही हैं। इस पूर्व कांग्रेस नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम का कहना है कि प्रियंका गांधी कांग्रेस में सबसे लोकप्रिय चेहरा हैं।

उन्हें कांग्रेस अध्यक्ष बनाया जाना चाहिए था। उपचुनाव में लोकसभा का टिकट देकर प्रियंका गांधी का कद कम करने की कोशिश की जा रही है। फिर भी वह एक नई पारी की शुरुआत कर रही हैं, मेरी तरफ से उन्हें शुभकामनाएं।

कांग्रेस पर लगाया गंभीर आरोप

आचार्य प्रमोद कृष्णम ने आरोप लगाया कि कांग्रेस ने प्रियंका गांधी को वायनाड से चुनाव लड़ाकर यह साबित कर दिया है कि कांग्रेस को हिंदुओं पर भरोसा नहीं है, अगर उन्होंने हिंदुओं पर भरोसा किया होता, तो उन्हें कहीं और से चुनाव लड़वाया जाता।

शहजाद पूनावाला ने भी बोला कांग्रेस पर हमला

आचार्य प्रमोद कृष्णम ही नहीं, भाजपा प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने भी वायनाड से प्रियंका गांधी को मैदान में उतारने के फैसले पर कांग्रेस पर हमला किया और कहा कि यह फैसला साबित करता है कि कांग्रेस एक पार्टी नहीं बल्कि एक “पारिवारिक व्यवसाय” है।

प्रियंका गांधी वायनाड से लड़ेंगी चुनाव

अभी हाल में कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा था कि प्रियंका आगामी उपचुनाव में वायनाड से चुनाव लड़ेंगीं। इस पर प्रियंका गांधी ने कहा कि वह वायनाड का प्रतिनिधित्व करने में सक्षम और खुश हैं। उन्होंने कहा कि वह वायनाड के लोगों को अपने भाई की कमी महसूस नहीं होने देंगी।

उन्होंने कहा कि “मैं कड़ी मेहनत करूंगी और सभी को खुश करने और एक अच्छा प्रतिनिधि बनने की पूरी कोशिश करूंगी। मेरा रायबरेली और अमेठी से बहुत पुराना रिश्ता है और इसे तोड़ा नहीं जा सकता। मैं रायबरेली में अपने भाई की भी मदद करूंगी।

दो सीट से जीते हैं राहुल गांधी

बता दें कि लोकसभा चुनाव 2024 में राहुल गांधी ने रायबरेली और वायनाड दोनों लोकसभा सीटों से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की। राहुल गांधी ने रायबरेली लोकसभा सीट 3.90 लाख से अधिक वोटों के अंतर से जीती, जबकि उन्होंने वायनाड सीट 3.64 लाख से अधिक वोटों के अंतर से जीती।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top