skip to content
कांग्रेस के 'Ecosystem' को अब उसी की भाषा में जवाब मिलेगा, लोकसभा में PM मोदी ने चेताया

कांग्रेस के ‘Ecosystem’ को अब उसी की भाषा में जवाब मिलेगा, लोकसभा में PM मोदी ने चेताया

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मंगलवार लोकसभा में कांग्रेस पर हमला बोलने के साथ ही उसके सहयोगी दलों को भी आगाह किया। राष्ट्रपति के अभिभाषण से संबंधित धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा का जवाब देते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मुझे नहीं पता कि कांग्रेस के साथी दलों ने इस चुनाव का विश्लेषण किया है या नहीं।

ये चुनाव कांग्रेस के साथियों के लिए भी संदेश है। अब कांग्रेस पार्टी 2024 से एक परजीवी कांग्रेस पार्टी के रूप में जानी जाएगी। 2024 से जो कांग्रेस है वो परजीवी कांग्रेस है। परजीवी वो होता है जो जिस शरीर पर रहता है ये परजीवी उसी को ही खाता है। कांग्रेस भी जिस पार्टी के साथ गठबंधन करती है उसी के वोट खा जाती है।

पीएम मोदी ने कहा, ‘जैसे-जैसे भारत आगे बढ़ रहा है, स्वाभाविक है प्रतिस्पर्धा भी बढ़ रही है और चुनौतियां भी बढ़ रही हैं. जिन्हें भारत की प्रगति से दिक्कत है, जो भारत की प्रगति को चुनौती के रूप में देखते हैं, वो गलत हथकंडे भी अपना रहे हैं. ये ताकतें भारत की डेमोक्रेसी, डेमोग्राफी और डायवर्सिटी पर हमला कर रही हैं. और ये चिंता सिर्फ मेरी नहीं है, ये चिंता सिर्फ सरकार की नहीं है, देश की जनता और माननीय सुप्रीम कोर्ट तक सबकोई इन बातों से चिंतित है.

सुप्रीम कोर्ट ने जो कहा है वो कोट मैं सदन के सामने रखना चाहता हूं.’ उन्होंने कहा कि ‘सुप्रीम कोर्ट ने अपने जजमेंट में बड़ी गंभीरतापूर्वक से कहा है और मैं कोट करता हूं कि ऐसा लगता है कि महान देश की प्रगति पर संदेह प्रकट करने, उसे कम करने और हर संभव मोर्चे पर उसे कमजोर करने का प्रयास किया जा रहा है.

सुप्रीम कोर्ट आगे कह रही है कि इस तरह के किसी भी प्रयत्न को आरंभ में ही रोक दिया जाना चाहिए. देश की सुप्रीम कोर्ट का ये कोट है. सुप्रीम कोर्ट ने जो भावना व्यक्त की है, इस पर गंभीरता से विचार करने की आवश्यकता है. भारत में भी कुछ लोग हैं, जो ऐसी ताकतों की मदद कर रहे हैं, देशवासियों को ऐसी ताकतों से सतर्क रहने की जरूरत है.’

‘इकोसिस्टम को उसी भाषा में जवाब मिलेगा’ उन्होंने कहा, ‘2014 में सरकार में आने के बाद देश के सामने एक बहुत बड़ी चुनौती कांग्रेस के साथ ही कांग्रेस का इकोसिस्टम भी रहा है. कांग्रेस की मदद से ये इकोसिस्टम 70 साल तक फला-फूला है.

मैं आज इस इकोसिस्टम को चेतावनी देता हूं, मैं इस इकोसिस्टम को चेताना चाहता हूं कि इस इकोसिस्टम की जो हरकतें हैं, जिस तरह इकोसिस्टम ने ठान लिया है कि देश की विकास यात्रा को रोक देंगे, देश की प्रगति को डिरेल कर देंगे, मैं आज इकोसिस्टम को बता देना चाहता हूं कि उसकी हर साजिश का जवाब अब उसी की भाषा में मिलेगा. ये देश देशविरोधी साजिशों को कभी भी स्वीकार नहीं करेगा.’

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top