skip to content
यूपी में भीतरघात करने वालों पर सख्त एक्शन की तैयारी, 2027 के चुनाव में कटेंगे इन विधायकों के टिकट

यूपी में भीतरघात करने वालों पर सख्त एक्शन की तैयारी, 2027 के चुनाव में कटेंगे इन विधायकों के टिकट

UP Lok Sabha Elections 2024: लोकसभा चुनाव 2024 में उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के पिछड़ने पर एक रिपोर्ट हाईकमान को भेजी गई है. इससे जुड़ी एक्सक्लूसिव जानकारी सामने आई है. दावा किया जा रहा है कि जिन विधायकों ने कथित भीतरघात करने वालों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा.

सूत्रों के अनुसार भीतरघात करने वाले बीजेपी विधायक भी नेतृत्व के रडार पर हैं. आगामी विधानसभा चुनावों में करीब 100 बीजेपी विधायकों के टिकट कटने के आसार हैं. जातीय समीकरण पक्ष में होने के बावजूद कई विधायक अपनी ही सीट नहीं जिता पाए. हार की समीक्षा कर रही बीजेपी की स्पेशल टीम ने प्रदेश नेतृत्व को विस्तृत रिपोर्ट सौंपी.

80 विधायकों के टिकट काटे थे

साल 2022 में बीजेपी ने लगभग 80 विधायकों के टिकट काटे थे. रिपोर्ट में इस बात का भी जिक्र की विधायकों ने लोकसभा कैंडिडेट के खिलाफ माहौल बनाया.

कई विधानसभाओं में विधायकों की निष्क्रियता से भी पार्टी को नुकसान हुआ. ऐसे विधायको का पार्टी ने पूरा ब्योरा तैयार कर लिया है. सहयोगी दलों ने भी विधायकों की भूमिका को लेकर अपनी रिपोर्ट दी है. दावा है कि साल 2027 के चुनाव में इन बातों को ध्यान में रखकर ही पार्टी टिकट वितरण करेगी.

यूपी में बीजेपी को मिली केवल 33 सीटें

यूपी में भारतीय जनता पार्टी को सिर्फ 33 सीटें मिली हैं. वहीं सपा और कांग्रेस अलायंस को 43 सीटें मिली हैं. बीजेपी को राज्य से 70 से ज्यादा सीटों की उम्मीद थी. हालांकि उसे सिर्फ 33 सीटें मिलीं थीं.

80 में 80 का नारा देकर चुनाव में उतरी बीजेपी केवल 33 सीटों पर ही सिमट गई, जबकि इससे पहले दो लोकसभा चुनाव, 2014 और 2019 में बीजेपी को 71 और 62 सीटों पर जीत मिली थी, लेकिन 2024 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी को बड़ा झटका लगा और पार्टी की रणनीति पूरी तरह फेल हो गई और बीजेपी अयोध्या में भी हार गई.

भीतरघात करने वाले नेताओं पर एक्शन की तैयारी

लोकसभा चुनाव 2024 में यूपी में बीजेपी के प्रभुत्व और दबदबे को विपक्षी इंडिया गठबंधन से कड़ी चुनौती मिली, जिसको बीजेपी को उम्मीद भी नहीं थी. इस चुनाव में बीजेपी वह सीट भी हार गई, जहां उसका दबदबा होता था.

बीजेपी को सबसे बड़ा झटका अयोध्या में लगा. राम मंदिर के निर्माण के बाद ये पहला लोकसभा का चुनाव था और बीजेपी को यहां से हार मिली. फिलहाल बीजेपी अपनी हार की समीक्षा कर रही है और कयास लगाया जा रहा है कि यूपी में भीतरघात करने वाले नेताओं पर एक्शन की तैयार की जा रही है.

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top