skip to content

कांग्रेस नेता Harak Singh Rawat के घर रेड, उत्तराखंड से दिल्ली तक 12 ठिकानों पर ED का एक्शन

प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने आज कांग्रेस नेता Harak Singh Rawat और उनके करीबियों के ठिकानों पर छापेमारी की। यह छापेमारी मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में की गई है। सूत्रों के मुताबिक, ED ने उत्तराखंड, दिल्ली और चंडीगढ़ में करीब 12 ठिकानों पर छापेमारी की है।

ED की टीम ने देहरादून में Harak Singh Rawat के आवास और उनके बेटे की कंपनी के दफ्तर पर छापेमारी की। इसके अलावा, दिल्ली में उनके करीबियों के घरों और दफ्तरों पर भी छापेमारी की गई है।

सूत्रों का कहना है कि Harak Singh Rawat पर आरोप है कि उन्होंने अपने पद का दुरुपयोग करते हुए अवैध तरीके से धन अर्जित किया और उसे मनी लॉन्ड्रिंग के जरिए सफेद किया। ED को शक है कि उन्होंने इस धन का इस्तेमाल चुनाव लड़ने और अपनी संपत्ति बढ़ाने के लिए किया।

Harak Singh Rawat उत्तराखंड के पूर्व वन मंत्री हैं। वे 2022 में कांग्रेस में शामिल हुए थे। इससे पहले वे भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सदस्य थे।

ED की इस कार्रवाई से राजनीतिक हलचल मच गई है। कांग्रेस पार्टी ने ED की कार्रवाई को राजनीतिक प्रेरित बताया है। पार्टी का कहना है कि यह BJP का हताशा का प्रतीक है।

BJP ने कांग्रेस के आरोपों को खारिज कर दिया है। पार्टी का कहना है कि ED की कार्रवाई कानून के तहत की गई है।

कौन हैं हरक सिंह रावत?

हरक सिंह रावत को बीजेपी ने अनुशासनहीनता की वजह से पार्टी से निष्कासित करते हुए कैबिनेट मंत्री पद से बर्खास्त कर दिया था, जिसके बाद साल 2022 में वह कांग्रेस में शामिल हो गए थे। हरक सिंह के साथ उनकी बहू अनुकृति गुसाईं ने भी कांग्रेस का दामन थाम लिया था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top

BJP Modal