skip to content
गौमाता को राष्ट्रीय माता घोषित करने की मांग के साथ राजकोट में 11 जून को धर्म सम्मेलन, 5000 साधु संत होंगे शामिल

गौमाता को राष्ट्रीय माता घोषित करने की मांग के साथ राजकोट में 11 जून को धर्म सम्मेलन, 5000 साधु संत होंगे शामिल

सनातन संस्थान सेवा ट्रस्ट के उपक्रम पर गौमाता को ‘राष्ट्रीय माता’ घोषित करने के लिए राजकोट में 5000 से ज्यादा साधु संतों की धर्म सभा आयोजित की जाएगी। इस धर्मसभा में धर्म के रक्षण के लिए विविध मुद्दों पर भी चर्चा की जायेगी।

सनातन संस्थान सेवा ट्रस्ट के द्वारा गौ माता को ‘राष्ट्रीय माता’ घोषित करने के लिए 11 जून को राजकोट में धर्म सभा आयोजित की जाएगी। जिसमें 5000 से भी ज्यादा साधु संत उपस्थित रहेंगे। इस धर्म सभा का द्वारका के पीठाधीश्वर जगतगुरु शंकराचार्य स्वामीजी सदानंद सरस्वतीजी की निश्रा में आयोजन किया जा रहा है। इस धर्म सभा का लाइव प्रसारण भी किया जाएगा।

इस धर्म सभा में तमाम संत गौ माता को ‘राष्ट्रीय माता’ बनाने के लिए संकल्प लेंगे। 3 घंटे तक आयोजित इस धर्म सभा में 5000 से ज्यादा साधु संत एवं गौ भक्त उपस्थित रहेंगे। इससे पहले भी सनातन संस्थान सेवा ट्रस्ट तीन बार धर्म सभा आयोजित कर चुका है।

धर्म सभा में कौन-कौन होंगे शामिल राजकोट में 11 जून को आयोजित होने वाली इस धर्म सभा में चार शंकराचार्य, चार पीठाधीश, 1008 एवं 108 महामंडलेश्वर एवम काशी, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, गुजरात समेत के राज्यों के संत उपस्थित रहेंगे। गुजरात के तमाम कथाकार भी धर्म सभा में उपस्थित रहेंगे।

धर्म रक्षा के 8 मुद्दों पर होगी चर्चा इस संत सम्मेलन में धर्म रक्षा के आठ मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। जिसमें गौ माता, सनातन धर्म का रक्षण और विकास, धर्म के विपरीत कार्यों पर प्रतिबंध लगाना, संतों की एकता, धर्म के साथ ज्यादा से ज्यादा लोगों को कैसे जोडा जाए, जहां पर भी अशांत धारा लागू हो ऐसे स्थान पर धर्म का प्रचार करना, नए मंदिरों का निर्माण करना, पुराने खंडित मंदिरों का पुनः निर्माण करना, धर्म का ज्ञान समेत के विषयों पर विशेष चर्चा की जाएगी।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top

BJP Modal