skip to content
जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खात्मे का ब्लूप्रिंट तैयार, PM मोदी बोले- कोई कसर न छोड़ें

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों के खात्मे का ब्लूप्रिंट तैयार, PM मोदी बोले- कोई कसर न छोड़ें

जम्मू-कश्मीर में बीते कुछ दिनों से सिलसिलेवार आतंकी हमले हो रहे हैं जिसे देखते हुए अब प्रशासन एक्शन मोड में आ गया है। खबर है कि मोदी सरकार ने आतंकियों के खात्मे का ब्लूप्रिंट तैयार कर लिया है। सिलसिलेवार हमलों के बाद पीएम मोदी ने बैठकें की। NSA और अन्य अधिकारियों के साथ पीएम ने जम्मू-कश्मीर की स्थिति की समीक्षा भी की और मामले को लेकर अमित शाह से चर्चा की गई।

प्रधानमंत्री मोदी ने बातचीत के दौरान आतंकवाद विरोधी क्षमताओं का पूरा स्पेक्ट्रम तैनात करने को कहा है जिसके बाद से एक्शन प्लान में तेजी आ गई है। एक आधिकारिक सूत्र ने कहा, ‘‘प्रधानमंत्री ने उनसे आतंकवाद से निपटने की हमारी क्षमताओं का पूरा इस्तेमाल करने को कहा।’’ वहीं, दूसरी ओर सुरक्षाबलों का ऑपरेशन ऑल आउट तेज हो गया है। सेना का दावा है कि बड़ी लीड्स के आधार पर जल्द से जल्द आतंकियों को खत्म कर दिया जाएगा।

सेना का सर्च ऑपरेशन जारी

जम्मू कश्मीर में पिछले 4 दिन में चार आतंकी हमले हुए हैं जिसके बाद से घाटी में ऑपरेशन ऑल आउट तेज हो गया है। आतंकियों की तलाश के लिए जम्मू-कश्मीर के अलग-अलग जंगलों में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। आर्मी, पुलिस और पैरामिलिट्री फोर्सेस इस काम में लगी हैं तो दूसरी ओर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी फुल एक्शन में हैं।

अधिकारियों के साथ-साथ प्रधानमंत्री अपने मंत्रियों से भी बात कर रहे हैं। खबर है कि पीएम ने अमित शाह से भी मामले को लेकर बात की सुरक्षा बलों की तैनाती और आतंकवाद विरोधी अभियानों पर चर्चा की जिसके बाद जम्मू-कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा से चर्चा हुई। मनोज सिन्हा से जम्मू-कश्मीर के हालात के बारे में जानकारी ली गई।

आधुनिक हथियारों से लैस सेना

दूसरी ओर बारिश और खराब मौसम के बीच सेना के जवान मोर्चे पर डटे हुए हैं। ड्रोन के जरिए टेरेरिस्ट्स की तलाश की जा रही है और आर्मी इस ऑपरेशन में टेक्नोलॉजी का भी इस्तेमाल कर रही है। जम्मू कश्मीर के कई जिलों को हाईअलर्ट पर रखा गया है।

खुफिया एजेंसियों ने सुरक्षाबलों पर आतंकी हमलों की चेतावनी दी है जिसे देखते हुए भद्रवाह, डोडा समेत कई जगहों पर सेना का कॉम्बिंग ऑपरेशन जारी है। सेना के साथ-साथ जम्मू कश्मीर पुलिस भी आतंकियों की तलाश में जुटी है।

सुरक्षा एजेंसियों को पूरा भरोसा है कि एक दो दिन में ही आतंकियों को मार गिराया जाएगा। आतंकवादियों के बारे में लगातार लीड्स सुरक्षाबलों को मिल रही हैं ऐसे में बहुत जल्द आतंकवादियों को न्यूट्रलाइज़ कर लिया जाएगा।

दहशतगर्दों का खात्मा जल्द

पिछले कुछ सालों में ऑपरेशन ऑल आउट के जरिए क्रॉस बॉर्डर टेररिज्म में काफी कमी आई है इसको देखते हुए आतंकी गुटों ने भी अपनी स्ट्रैटजी बदली है। साल 2022 में मारे गए 187 आतंकियों में 57 विदेशी थे जबकि पिछले साल 76 आतंकी मारे गए उनमें से 55 आतंकी विदेशी थे। ये विदेशी आतंकी लंबे समय तक जंगलों में छिपने और गुरिल्ला वॉर में ट्रेन्ड किया जाते हैं।

पीएम की समीक्षा बैठक के बाद पुलिस की बड़ी कार्रवाई भी सामने आई है। रियासी में तीर्थयात्रियों से भरी बस पर हुए आतंकवादी हमले की जांच के सिलसिले में 50 लोगों को हिरासत में लिया गया जिनसे पूछताछ का सिलसिला जारी है। हमले में शामिल 4 आतंकवादियों के स्केच पुलिस पहले ही जारी कर चुकी है और अब प्रशासन का टारगेट जल्द से जल्द आतंकियों का मार गिराना है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top