skip to content
पाकिस्तानी आकाओं की शह पर दी जा रही हिंदू नेताओं को धमकी? गुजरात पुलिस ने किया बड़ा भंडाफोड़

पाकिस्तानी आकाओं की शह पर दी जा रही हिंदू नेताओं को धमकी? गुजरात पुलिस ने किया बड़ा भंडाफोड़

गुजरात पुलिस ने हाल ही में कई हिंदूवादी नेताओं को धमकी देने के आरोप में तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। अब पुलिस ने जानकारी दी है कि ये तीनों लोग पाकिस्तान में बैठे अपने आकाओं के संपर्क में थे और हवाला के माध्यम से धन प्राप्त करते थे।

हाल ही में पुलिस ने सूरत पुलिस ने उपदेश राणा की हत्या की साजिश रचने और भाजपा के तेलंगाना से विधायक राजा सिंह और पूर्व प्रवक्ता नूपुर शर्मा सहित कई अन्य हिंदूवादी नेताओं को धमकी देने के आरोप में मौलवी सोहेल अबुबक्र तिमोल को गिरफ्तार किया था। उससे पूछताछ में हुए खुलासे के बाद पुलिस ने बिहार और महाराष्ट्र से भी लोगों को गिरफ्तार किया है।

बिहार और यूपी से भी गिरफ्तारी

सूरत पुलिस कमीश्नर अनुपम सिंह गहलोत ने बताया है कि मई के पहले सप्ताह में, हमने सूरत जिले से एक मौलवी सोहेल को गिरफ्तार किया था। पूछताछ के दौरान, हमें उस पूरे मॉड्यूल के बारे में जानकारी मिली, जिससे वह जुड़ा हुआ था। सोहेल से हमें दो चुनाव कार्ड बरामद किए गए।

उसके पास दो जन्म प्रमाण पत्र थे- एक सूरत का और दूसरा महाराष्ट्र के नवापुरा का। एक अन्य आरोपी शेहनाज को गिरफ्तार कर लिया गया है, वह नेपाल से एक फोन नंबर का उपयोग करके काम करता था उसका ठिकाना मुजफ्फरपुर में था।

पुलिस ने बताया है कि हाल ही में उत्तर प्रदेश आतंकवाद रोधी दस्ते ने जिया उल हक नाम के एक संदिग्ध आतंकवादी को गिरफ्तार किया था, जो उसी मॉड्यूल का हिस्सा था और उसे पाकिस्तान में बैठे उसके आका से आदेश मिला था।

17 वर्चुअल नंबर और 42 ईमेल आईडी

पुलिस ने बताया है कि शेहनाज पहले नेपाल में रहता था। वह एक मोबाइल सेट से 17 वर्चुअल नंबर चलाता था। यहां तक ​​कि उसके पास 42 ईमेल आईडी भी थीं, जिसका इस्तेमाल उसने लोगों को धमकी देने के लिए किया था। पुलिस के मुताबिक, इस आरोपी के पास भारतीय आधार कार्ड तो है ही साथ ही इसने नेपाल की नागरिकता भी ले रखी है।

महाराष्ट्र में भी आरोपी गिरफ्तार हुआ

पुलिस ने बताया है कि एक अन्य शख्स रजा को महाराष्ट्र के नांदेड़ से गिरफ्तार किया गया है। उसने तुरंत ही अपना मोबाइल नष्ट कर दिया।

लेकिन पुलिस कुछ जानकारी हासिल करने में सफल रही और डेटा प्राप्त करने के लिए एफएसएल से मदद लेने की कोशिश कर रही है। उसने अपने हैंडलर डागर द्वारा उपलब्ध कराए गए पाकिस्तान नंबर का इस्तेमाल किया था।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Scroll to Top

BJP Modal